कवरेज इंडिया

खबर पल-पल की

अफवाहों पर लगा विराम! पूर्व सांसद व व्यवसाई श्यामाचरण गुप्ता का कोरोना से निधन

1 min read

कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क प्रयागराज

प्रयागराज शहर के बड़े व्यवसाई व श्याम ग्रामोद्योग के मालिक एवं पूर्व सांसद श्यामाचरण गुप्ता का अचानक निधन हो गया, कुछ दिनों पहले ही उनकी व उनके पत्नी की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई थी जिसके बाद उनका इलाज दिल्ली के मैक्स अस्पताल में जारी था। श्यामाचरण गुप्ता प्रयागराज से सांसद भी रह चुके हैं. वह समाजवादी पार्टी से भी जुड़े रहे हैं। बता दें कि श्यामाचरण गुप्ता के निधन की फर्जी खबरें शुक्रवार से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी जिनका खंडन श्याम ग्रुप द्वारा किया गया था। अब श्याम ग्रुप द्वारा ही इस बात की पुष्टि की गई है कि पूर्व सांसद श्यामाचरण गुप्ता की मौत देर रात दिल्ली के मैक्स अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई।

आइये जानें श्यामा चरण गुप्त के बारे में

नाम – श्यामाचरण गुप्त
पिता का नाम स्व श्री तीरथप्रसाद गुप्त
जन्म – 9 फरवरी 1945 बांदा जनपद ऊ प्र
शिक्षा – ई. सी. सी कालेज से स्नातक, लखनऊ विश्वविद्यालय से विधि स्नातक
राजनैतिक पृष्ठ भूमि – 1984 में बांदा संसदीय सीट से निर्दलीय प्रत्याशी, दूसरे स्थान पर रहे
1989 में इलाहाबाद के नगर प्रमुख बने 1993 तक रहे
1991 में भाजपा के टिकट पर संसदीय चुनाव लड़े और हार गए।
इसके बाद सपा मुखिया मा मुलायम सिंह यादव जी के संपर्क में आए, राष्ट्रीय सचिव मनोनीत किया गया.

राष्ट्रीय सचिव के रूप में सपा कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जो चर्चा में रहा.

1996 में सपा के टिकट पर मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ चुनाव लड़े हार गए.

1999 में बांदा संसदीय क्षेत्र से समाजवादीपार्टी के उम्मीदवार रहे चुनाव हार गए.

2002 में शहर दक्षिणी विधान सभा में केसरी नाथ त्रिपाठी जी के खिलाफ सपा उम्मीदवार रहे, हार गए.

2004 में सपा से बांदा संसदीय क्षेत्र से सांसद चुने गए
2009 में सपा ने फूलपुर से उम्मीदवार बनाया लेकिन बसपा के कपिल मुनि से हार गए.

2014 में भाजपा से इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र से सांसद चुने गए
2019 मे सपा के टिकट से बांदा से संसदीय चुनाव लड़े मगर हार गए l लड़े मगर हार गए ।

वर्ष 2009 के चुनाव में श्री श्यामाचरण गुप्ता जी के चुनाव मीडिया प्रभारी रहे सपा के जिला प्रवक्ता दान बहादुर मधुर ने जानकारी देते हुए बताया है कि वह बेहद मिलनसार और सहृदय व्यक्तित्व के धनी थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *