कवरेज इंडिया

खबर पल-पल की

ब्राह्मण बनाम ठाकुर हुआ प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 का चुनाव, इस प्रत्याशी को मिल रहा अपार जनसमर्थन

1 min read

कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क प्रयागराज

प्रयागराज। जनपद के गंगा पार इलाके में स्थित प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 का चुनाव अपने चरम पर है। सभी राजनीतिक पार्टियां अपने अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए साम-दाम-दंड-भेद, कर-बल छल, के साथ यह प्रयास कर रही है कि उनका प्रत्याशी विजई हो। वैसे तो प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 से जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशियों की लंबी लाइन है। दर्जनों प्रत्याशी इस चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे हैं। जिनमें से कुछ निर्दल तो कुछ पार्टियों के बैनर तले अपनी लड़ाई लड़ रहे हैं और जीत का दंभ भर रहे हैं।

यह भी पढ़ें – http://योगी सरकार का मदरसा छात्रों को एक और बड़ा तोहफा, अब बदल जाएगी यूपी के मदरसा छात्रों की किस्मत

लेकिन वर्तमान समय में प्रतापपुर वार्ड नंबर एक से प्रमुख प्रत्याशियों की बात करें तो बहुजन समाज पार्टी से बृज कुमारी पत्नी ई. घनश्याम पाण्डेय माता वर्तमान ब्लाक प्रमुख पुनीत पाण्डेय। भारतीय जनता पार्टी से ज्योति सिंह पत्नी विनय सिंह। समाजवादी पार्टी से अमर सिंह यादव, कांग्रेस से संजय दूंबे मैदान में हैं। वही इन प्रत्याशियों के अलावा निर्दल कैंडिडेट भी चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं जिनमें यादवेंद्र सिंह यादव उर्फ बबलू यादव, आशुतोष द्विवेदी उर्फ राहुल, राजनाथ यादव, महेन्द्र यादव, सुरेश यादव प्रमुख हैं। बता दें कि प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 से सिर्फ दो ही प्रत्याशियों की लड़ाई आमने-सामने है।

यह भी पढ़ें – http://सावधान! युवाओं को भी चपेट में ले रहा कोरोना, 20 से 26 वर्ष की उम्र के दर्जनों संक्रमित

जानकारों की माने तो इन्हीं दोनों प्रत्याशियों में कांटे की टक्कर है। जातीय समीकरण में पांच यादव प्रत्याशी होने से समाजवादी पार्टी का वोट बैंक बिखरता हुआ नजर आ रहा है जिससे सपा प्रत्याशी अमर सिंह यादव की स्थिति इस चुनाव में नाजुक बनी हुई है। कांग्रेस प्रत्याशी संजय दुबे को क्षेत्र वाले लड़ाई से बाहर मान रहे हैं। इन सभी से इतर जब ‘कवरेज इंडिया’ की टीम ने क्षेत्र में मतदाताओं का रुझान जानने की कोशिश की तो यह बात निकल कर सामने आई की ज्योति सिंह का टिकट फाइनल होते ही प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 का चुनाव पूरी तरीके से ब्राह्मण बनाम ठाकुर हो चुका है। गौरतलब है कि सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ पर इससे पहले भी ठाकुरवादी होने का आरोप लगता आया है।

यह भी पढ़ें – http://लगवाने गईं थी कोरोना का टीका, लगा दिया एंटी रेबीज ‘कुत्ते के काटने पर लगने वाला इंजेक्शन’

क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि पैराशूट कंडीडेट ज्योति सिंह का टिकट फाइनल करके योगी आदित्यनाथ में ठाकुरवादी होने वाली बात पर मुहर लगा दिया है। ऐसा हो भी क्यों न इससे पूर्व कई भाजपा प्रत्याशी पिछले 3 से 4 वर्षों से चुनाव की तैयारी कर रहे थे लेकिन अचानक पार्टी ने पैराशूट कैंडिडेट के रूप में ज्योति सिंह को प्रत्याशी बना दिया। यही नहीं उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कार्यकर्ताओं को धमकी भी दे डाली कि यदि पार्टी द्वारा निर्धारित किए गए प्रत्याशी का किसी भी कार्यकर्ता ने विरोध किया या समर्थन नहीं किया तो उसे पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। सूत्रों की माने तो उपमुख्यमंत्री द्वारा दिए गए इस तानाशाही आदेश से पार्टी के ही कार्यकर्ताओं में खासा आक्रोश है जिसका खामियाजा जिला पंचायत चुनाव में वार्ड नंबर 1 के प्रत्याशी ज्योति सिंह को उठाना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें – http://केशव ने कार्यकर्ताओं को चेताया, जो प्रत्याशी पार्टी घोषित करेगी उसका समर्थन व प्रचार करना ही होगा नहीं तो कर दिए जाओगे बाहर

कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जिला पंचायत चुनाव में उनकी अनदेखी की गयी है, जमीनी व स्थानीय कार्यकर्ताओं को तवज्जो ना देकर पार्टी ने पैराशूट कैंडिडेट उतारा है। इसका विरोध खुद पार्टी के समर्थक ही भीतर भीतर कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर बृज कुमारी को ब्राह्मणों के साथ ही अन्य जातियों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। जानकारों की माने तो व्यापारी वर्ग बढ़ती महंगाई के चलते भारतीय जनता पार्टी से पहले ही नाराज चल रहा है जिसके नाते वह खुलकर बसपा प्रत्याशी बृज कुमारी का समर्थन कर रहा है।

 

क्या कहता है जातीय समीकरण!

यदि हम क्षेत्र के जातीय समीकरण की बात करें तो चौका, पतईया, पतवां, पिलखिनी, जलालपुर, रस्तीपुर, खखैंचा ब्राह्मण बाहुल्य क्षेत्र है। जबकि नेदुला (ब्राह्मण, दलित एवं बिंद) और मीरपुर भी ब्राह्मण बाहुल्य है जहां पर बृज कुमारी व उनके सुपुत्र व वर्तमान ब्लाक प्रमुख पुनीत पांडे की अच्छी पकड़ है । इसके बाद जंघई कटरा, बनिया बाहुल्य, सरजू पट्टी, नेवादा, थानापुर, सिंधौरा ब्राह्मण, ठाकुर व यादव मिक्स, बजती, झारी, मठोही व सोरों यादव बाहुल्य है यहां सपा प्रत्याशी अमर सिंह यादव की गहरी पैठ है। तो वही ज्योति सिंह को भारतीय जनता पार्टी के बैनर का लाभ मिल सकता है, क्षेत्र में जातीय समीकरण के अलावा भी भारतीय जनता पार्टी का अपना वोट बैंक है।

यह भी पढ़ें – http://1 से 11 अप्रैल के बीच एक बार फिर महंगा हुआ खाद्य पदार्थ, घरेलू सामान के दामों में 10 फीसदी तक की वृद्धि, आमदनी जस की तस

यदि वार्ड नंबर 1 के कुल मतदाताओं की बात की जाए तो नंबर एक पर ब्राह्मण है, उसके बाद यादव, बनिया, दलित, बिंद आदि का नंबर आता है। उपरोक्त आंकड़ों के आधार पर यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा की प्रतापपुर वार्ड नंबर 1 का चुनाव ब्राम्हण बनाम ठाकुर हो चला है । जिसमें अभी तक के आंकड़ों के हिसाब से बसपा प्रत्याशी बृज कुमारी की स्थिति बहुत ही मजबूत दिखाई पड़ रही है। भारतीय जनता पार्टी को वर्तमान महंगाई और पैराशूट कैंडिडेट का मुद्दा झेलना पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *