कवरेज इंडिया

खबर पल-पल की

गाजीपुर। बारिश के उनवान के साथ ही ऊफान की ओर करमनासा

सतेन्द्र सिंह। कवरेज इण्डिया गाजीपुर
दिलदारनगर। प्री मानसून बारिश के उनवान के साथ ही लगातार हफ्ते भर से कभी रूक रुक कर तो कभी जोरदार बारिश ने अपने तलहटी में नाले की शक्ल में बह रही नदियों के जल स्तर को भी उफान पर ले जा रही है।कमोबेश जिले से होकर गुजरने वाली हर नदियों के जल स्तर में बढ़ोतरी होने लगी है।जनपद के गंगा पार से होकर बहने वाली करमनासा नदी जो गरमी के मौसम में अपना तट छोड़ कर तलहटी में नाले के रूप में बहती नजर आती है।मानसून के शुरुआती समय के साथ अब अपने तट को पकड़ कर बहती हुई नजर आ रही है।करमनासा नदी के जल स्तर में निरंतर जारी बढ़ाव को देखते हुए।तटवर्ती गांवों के ग्रामीणों में बाढ़ की आशंका की चर्चा जोर पकड़ने लगी है।

 

गौरतलब है कि सोनभद्र की कैमूर पहाड़ियों से निकलने वाली लगभग 132 किमी लंबी करमनासा नदी जनपद से सटे लगभग 32 किमी की दूरी तक बिहार और उत्तर प्रदेश का सीमा विभाजन करते हुए गहमर थाना क्षेत्र के बारा गांव से सटे कुतुबपुर गांव के आगे गंगा में समाहित हो जाती है।गरमी के दिनों में इस नदी में कम पानी होने की दशा में लोग पैदल ही नदी पार करके उप्र और बिहार की सीमा में आते जाते रहते हैं।अब करमनासा में जलस्तर बढ़ने के साथ लोग नावों के सहारे नदी पार कर रहे हैं।करमनासा में बरसात के साथ हो रही जलबढ़ोत्तरी में इसमे मिलने वाली क्षेत्र के कशेरुआ गांव के पास एक नैया तथा चित्रकोनी गांव के पास दुर्गावती आदि सहायक नदियों की भी भूमिका रहती है।फिलहाल नदियों में जलस्तर बढ़ने के साथ ही बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन भी अलर्ट मोड में है और नदियों के जलस्तर में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए इस नदी की मॉनिटरिंग लगातार की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *