28.1 C
Delhi
Wednesday, October 20, 2021

बड़े बड़े पत्रकारों को अपने जेब में रखता हूं तुम्हारी क्या औकात है?? पढ़िए दलबदलू नेता ने और क्या कहा!

- Advertisement -

 

पवांरा से दिवाकर तिवारी की रिपोर्ट

विधायक बनने का सपना लेकर एक दल के दूसरे दल में छलांग लगा रहे नेताजी को पत्रकार द्वारा समाचार लिखना इतना नागवार लगा की उन्होंने अपने पीआरओ से फोन करया और पत्रकार को धमकी दे डाली।पीआरओ ने कहा बड़े-बड़े पत्रकारों को मैं जेब में रखता हूं तुम्हारी क्या औकात है?नेताजी के बड़बोलेपन के कारण बदल गया मुख्यमंत्री का कार्यक्रम स्थल शीर्षक से प्रकाशित खबर से नेताजी और उनके गुर्गे नाराज थे।उन्होंने पत्रकार को उसकी औकात बता दिया देख लेने की धमकी दिया है।

 

यह भी पढ़े – http://प्रयागराज में बोले ओवैसी: मैं यूपी के मुसलमानों का नेता बनने आया हूं, अतीक अहमद को घोषित किया उम्मीदवार

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने 20 सितंबर को मुंगरा बादशाहपुर में जनसभा को संबोधित किया।मुख्यमंत्री का यह प्रशासनिक कार्यक्रम था जिसके लिये चार दिन पूर्व राष्ट्रीय पीजी कॉलेज सुजानगंज कार्यक्रम स्थल सुनिश्चित कर दिया गया था।

 

जिसकी भनक हाल ही में दूसरे दल से सफर करके भाजपा में शामिल हुए नेता जी को लग गई।उन्होंने क्षेत्र के गांव गांव में टहलकर खूब प्रचारित किया कि मुख्यमंत्री जी उनके आमंत्रण पर आ रहे है।उन्होंने बुलाया है तथा कार्यक्रम सुजानगंज में तय कर दिया है।वह मुख्यमंत्री के आगमन का पूरा श्रेय लेने के चक्कर में पड़ गए। नेताजी का यह बयान क्षेत्र के अन्य दिग्गज नेतागणों के कान में पड़ी तो उन्होंने मुख्यमंत्री जी का कार्यक्रम स्थल को बदल दिया। मुंगराबादशाहपुर सार्वजनिक इंटर कॉलेज में कार्यक्रम सुनिश्चित करा दिया।सच तो यही है कि नेताजी के बड़बोले पन के कारण ही कार्यक्रम स्थल बदला गया।इस खबर को नेताजी के बड़बोलेपन के कारण बदला कार्यक्रम स्थल शीर्षक से समाचार कवरेज इंडिया न्यूज़ चैनल एवं समाचार पत्र में पत्रकार दिवाकर तिवारी ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था।जो नेताजी और उनके गुर्गों को बहुत नागवार लगा।

 

यह भी पढ़े – http://दुबई से भारत लाया जाएगा प्रयागराज का मोस्ट वांटेड ‘राशिद’, शाइन सिटी कम्पनी के माध्यम से की थी 60 हजार करोड़ की ठगी

 

नेताजी ने संतुलन खो दिया और पत्रकार को धमकी भी दे डाली।नेताजी ने दावा किया था कि मुख्यमंत्री जी को उन्होंने बुलाया है जबकि मंच पर मुख्यमंत्री जी उनका स्मृति चिन्ह भी नहीं लिया।यह दृश्य कार्यक्रम में उपस्थित हजारों की भीड़ ने देखा।सोशल मीडिया पर नेताजी के अपमानित किए जाने का प्रकरण खूब उछाल गया।कई लोगों ने नेताजी के बड़बोलेपन की आलोचना की तो कुछ लोगों ने सहानुभूति भी जताया। लेकिन हद तो तब हो गई जब नेताजी संकलित समाचार पढ़कर आपा खो बैठे और पत्रकार को धमकी दे डाली।फिलहाल इस घटना के बाद पत्रकारों में भारी रोष व्याप्त है।

- Advertisement -spot_img
Latest news
- Advertisement -

खबरे जरा हटके

राजनीति

Related news

मनोरंजन

25 अक्‍टूबर को जारी होगा विराज भट्ट की फ़िल्म ‘मैं तेरे काबिल’ का ट्रेलर

कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क मधु मंजुल आर्ट्स प्रस्तुत फ़िल्म ‘मैं तेरे काबिल’ का ट्रेलर 25 अक्‍टूबर को सुबह 11बजे रिलीज किया जाएगा। फिल्‍म का ट्रेलर...

भारत