22.7 C
Delhi
Monday, November 29, 2021

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह बनाएंगे नई पार्टी, BJP के साथ गठबंधन पर किया ये बड़ा ऐलान

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह जल्द ही अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी के गठन की घोषणा करेंगे। अगर किसान आंदोलन का समाधान उनके हित में हो जाता है तो पंजाब में बीजेपी के साथ गठजोड़ कर सकते हैं।

- Advertisement -spot_img

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह जल्द ही अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी के गठन की घोषणा करेंगे। अगर किसान आंदोलन का समाधान उनके हित में हो जाता है तो पंजाब में बीजेपी के साथ गठजोड़ कर सकते हैं। अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी बनाने पर कहा कि अकाली दल से अलग हुए नेताओं सहित समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन करने का भी विचार है। उनका कहना है कि पंजाब में अगली सरकार उनके दखल के बगैर नहीं बन सकेगी।

यह भी पढ़ें – चुनाव से पहले योगी सरकार पूरा कर सकती है एक और वादा, भूमाफियाओं से खाली कराई जमीन पर बनाएगी सस्ते घर

कैप्टन अमरिंदर के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्विटर पर उनका बयान जारी किया, जिसमें कहा गया है, “पंजाब के भविष्य के लिए संघर्ष जारी है। पंजाब और उसके लोगों तथा किसानों, जो एक साल से अधिक समय से अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे है, के लिए जल्द ही अपनी पार्टी की घोषणा करूंगा। अगर किसान विरोध का किसानों के हित में कोई समाधान निकल जाता है तो भाजपा के साथ वर्ष 2022 के पंजाब विधानसभा चुनाव में सीटों के समझौते को लेकर आशान्वित हूं।

यह भी पढ़ें – बच्चों की 85 लाख अश्लील तस्वीरें खींचकर शख्स ने कमाए 26 करोड़, कोर्ट ने सुनाई 27 साल की जेल की सजा

इसके अलावा अकाली से अलग हुए समान विचारों वाले गुटों, खासकर ढींढसा और ब्रह्मपुरा गुट, से भी अलायंस की संभावना है।” अमरिंदर ने यह भी संकेत दिया है कि तीन कृषि कानूनों के विरोध में लंबे समय से चल रहा किसानों का आंदोलन जल्द ही एक समाधान की ओर बढ़ सकता है।

बीजेपी से गठबंधन के संकेत

कैप्टन अमरिंदर सिंह के मीडिया एडवाइजर रवीन ठुकराल की ओर से किए गए ट्वीट के मुताबिक पंजाब के भविष्य के लिए लड़ाई जारी रहेगी और पंजाब विधान सभा चुनाव में अमरिंदर की पार्टी बीजेपी से गठबंधन भी कर सकती है. आगे लिखा गया है कि पंजाब की शांति और स्थिरता लाने के मकसद से ऐसा फैसला लिया है.

यह भी पढ़ें – लड़कों को कमरे में बुलाकर कपड़े उतार देती थी लड़की, फिर संबंध बनाने का उकसावा देकर शुरू होता था खौफ़नौक खेल

समान विचारधारा के लोगों को दिया न्योता

अमरिंदर सिंह की ओर से कहा गया है कि अकाली गुटों से अलग हुए दलों सहित समान विचारधारा वाली पार्टियों को साथ लेकर उनके साथ गठबंधन करने का भी विचार है. इसके अलावा अगर किसान आंदोलन का समाधान उनके हित में हो जाता है तो पंजाब में बीजेपी के साथ समझौते की भी उम्मीद है.

कैप्टन की ओर से नई पार्टी के ऐलान के साथ ही इस पर सियासी दलों की प्रतिक्रिया आना शुरू हो चुकी हैं. अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कैप्टन की पार्टी कुछ दिनों बाद बीजेपी की बी टीम साबित होगी. उन्होंने कहा कि वह दिल्ली में अमित शाह से मिलकर आए थे, पता नहीं दोनों के बीच क्या चर्चा हुई थी.

यह भी पढ़ें – अब त्रिशूल और वज्र से लैस होगी भारतीय सेना, चीनी सैनिकों से मुकाबले के लिए मिलेंगे पारंपरिक हथियार, पढ़िए पूरी खबर

कांग्रेस छोड़ने का किया था ऐलान

पंजाब के मुख्यमंत्री का पद छोड़ने के बाद ही कैप्टन साफ कर चुके थे कि वह अब कांग्रेस में नहीं हैं. उन्होंने कहा था कि वह अपमान नहीं सहेंगे और कांग्रेस में अब नहीं रहेंगे, क्योंकि जैसा बर्ताव उनके साथ किया गया है वह ठीक नहीं है. अमरिंदर से सीएम पद लेकर कांग्रेस हाई कमान ने पिछले दिनों चरणजीत चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया था और इसके पीछे की वजह सिद्धू और कैप्टन की तकरार को माना गया.

यह भी पढ़ें – PoK में गुप्त बैठक और 200 हत्या का लक्ष्य, कश्मीरी पंडित और गैर मुस्लिम हैं निशाना, भारत में हाई अलर्ट जारी

सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन ने सिद्धू को देशविरोधी और पाकिस्तान परस्त करार दिया था. साथ ही उन्होंने ऐलान किया था कि अगर कांग्रेस सिद्धू को पंजाब चुनाव में चेहरा बनाती है तो वह उनके खिलाफ अपना उम्मीदवार उतारने के लिए तैयार हैं.

- Advertisement -spot_img
Latest news
- Advertisement -

खबरे जरा हटके

राजनीति

Related news

मनोरंजन

भारत