22.7 C
Delhi
Monday, November 29, 2021

लखीमपुर खीरी मामले में 44 में से 4 गवाहों के ही दर्ज हुए बयान, SC ने यूपी सरकार को जमकर लगाई लताड़, कहा आप जिम्मेदारी से भाग रहे हैं

हमें लगता है कि आप अपनी जिम्मेदारी से बच रहे हैं। ऐसा न करें। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को लखीमपुर मामले की सुनवाई के दौरान यूपी सरकार को फटकार लगाते हुए यह बात कही।

- Advertisement -spot_img

कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क

हमें लगता है कि आप अपनी जिम्मेदारी से बच रहे हैं। ऐसा न करें। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को लखीमपुर मामले की सुनवाई के दौरान यूपी सरकार को फटकार लगाते हुए यह बात कही। इसके साथ ही कोर्ट ने यूपी सरकार को आदेश दिया कि वह इस मामले के बाकी गवाहों की बयान भी न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष दर्ज कराए। इससे पहले यूपी सरकार ने कोर्ट को बताया कि उसने कुल 44 गवाहों में से 4 के बयान दर्ज कर लिए हैं। चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना की अगुवाई वाली बेंच ने यूपी सरकार की ओर से पेश की गई स्टेटस रिपोर्ट को लेकर यह बात कही।

PoK में गुप्त बैठक और 200 हत्या का लक्ष्य, कश्मीरी पंडित और गैर मुस्लिम हैं निशाना, भारत में हाई अलर्ट जारी

यूपी सरकार ने चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच को बताया कि बाकी गवाहों के बयानों को भी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है। यूपी सरकार की ओर से गवाहों के बयान जारी करने के लिए वक्त मांगे जाने के बाद कोर्ट ने कार्यवाही को स्थगित कर दिया। शीर्ष अदालत ने अब मामले की अगली सुनवाई 26 अक्टूबर को करने का फैसला लिया है। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा समेत 10 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। दो वकीलों की ओर से इस मामले में याचिका दायर कर हाई लेवल इन्क्वायरी की मांग किए जाने पर अदालत ने सुनवाई शुरू की थी।

- Advertisement -spot_img
Latest news
- Advertisement -

खबरे जरा हटके

राजनीति

Related news

मनोरंजन

भारत