8.1 C
Delhi
Wednesday, January 26, 2022

चीखते रहे, चिल्लाते रहे पर बर्फीले तूफान में सदा के लिए दफ़न हो गई 10 मासूमों समेत 22 सिसकियां

spot_img
- Advertisement -
spot_img
spot_img

कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क

इस्लामाबाद: उत्तरी पाकिस्तान में भारी बर्फबारी की वजह से वाहनों के फंस जाने से 10 बच्चों समेत कम से 22 पर्यटकों की मौत हो गई. मुरी के पहाड़ी शहर में सर्दियों की बर्फबारी देखने के लिए पर्यटक पहुंचे थे. जबकि भारी बर्फबारी की वजह से वहां 1,000 से अधिक वाहन फंस गए हैं. मरने वालों में से कम से कम 10 की मौत कार में बैठे-बैठे ही जम जाने के कारण हो गई है. स्थानीय आपात सेवा रेस्क्यू के अनुसार, मरने वालों में एक पुलिसकर्मी, उसकी पत्नी और उनके छह बच्चे शामिल हैं. एक अन्य परिवार के भी 5 लोगों के मरने की खबर है. सेना का कहना है कि उसने बर्फ में फंसे 300 से अधिक लोगों को बचाया है.

सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि सैन्य इंजीनियरों और सैनिकों ने भी मुरी की ओर जाने वाली सड़कों पर जमे बर्फ को हटाना शुरू कर दिया है. इस बीच प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime minister Imran Khan ) ने पर्यटकों की दुखद मौतों पर शोक प्रकट किया है. खान ने एक ट्वीट में कहा, इस तरह की त्रासदियों की रोकथाम सुनिश्चित करने के लिए जांच और कड़े नियम बनाने का आदेश दिया है. कार में बैठे-बैठे मरने वालों के दर्दनाक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गए हैं.

केंद्रीय मंत्री शेख राशिद ने कहा कि यह संकट राजधानी इस्लामाबाद के उत्तर क्षेत्र में यात्रा करने वाले लोगों की अधिक संख्या के कारण हुआ है. हाल के दिनों में यहां 100,000 से अधिक कारें आ चुकी थीं. इन दिनों पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर बर्फ का आनंद लेते लोगों की तस्वीरों की बाढ़ आ गई थी, लेकिन शुक्रवार तक स्थानीय मीडिया ने बताया कि अभी भी पर्यटक फंसे हुए हैं. शनिवार को भारी हिमपात और वाहनों की संख्या में वृद्धि ने अधिकारियों को इस क्षेत्र को आपदा क्षेत्र घोषित करने के लिए कहा है.

- Advertisement -spot_img
Latest news
- Advertisement -

खबरे जरा हटके

राजनीति

Related news

मनोरंजन

भारत