8.1 C
Delhi
Wednesday, January 26, 2022

अस्पताल के कैंपस में मिला कब्रिस्तान, पुलिस छापेमारी में मिली 12 खोपड़ियां, 54 भ्रूण के अवशेष

spot_img
- Advertisement -
spot_img
spot_img

कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के वर्धा जिले के अरवी इलाके में एक प्राइवेट एबॉर्शन केंद्र का पर्दाफाश हुआ है. हैरान करने वाली बात यह है कि यहां पर एक कब्रिस्तान का भी पता लगाया गया है, जहां से 11 खोपड़िया और 54 भ्रूण की हड्डियां बरामद की गई. कब्रिस्तान अस्पताल के कैंपस बने पुराने बायोगैस प्लांट के अंदर पाया गया. पुलिस ने गुरुवार को अस्पताल पर छापा मारा और इसके डायरेक्टर रेखा कदम और चार अन्य कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया है.

मामले का खुलासा 13 वर्षीय लड़की के अवैध गर्भपात की जांच के दौरान हुआ. जो एक 17 वर्षीय लड़के के साथ कथित संबंध के बाद गर्भवती हो गई थी. आरोपियों ने पीड़िता से 30 हजार रुपए भी लिए थे.पुलिस ने बताया कि छापे के दौरान अस्पताल कैंपस से कई दागदार कपड़े, बैग, खुदाई के लिए इस्तेमाल किए गए फावड़े और वहां पर मौजूद अन्य मेडिकल सबूत मिले हैं, इन्हें जमाकर फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. एक स्थानीय डॉक्टर के अनुसार अवैध गर्भपात, प्रतिबंधित लिंग-निर्धारण परीक्षण और यहां तक कि कन्या भ्रूण हत्या जैसी जानकारी अस्पताल के आसपास रहने वाले कई लोगों थी, मगर किसी ने भी इन गतिविधियों की शिकायत करने या इसके बारे में खुलकर बोलने की हिम्मत नहीं की.

पुलिस ने शुरू की जांचमहिला जांच अधिकारियों की टीम की सहायक पुलिस निरीक्षक वंदना सोनूने के अनुसार अरवी पुलिस को 4 जनवरी को इस मामले में एक गुमनाम सूचना मिली थी. इस टीम ने सूत्रों के आधार पर छानबीन की और अंत में नाबालिग लड़की का पता लगा लिया. उसके माता-पिता को लड़के के परिवार द्वारा चुप रहने की धमकी दी गई थी.

पीड़िता बनी सरकारी गवाह

सहायक पुालिस निरीक्षक सोनुने के अनुसार लड़की के माता-पिता को पूरी सुरक्षा का आश्वासन दिया गया था. काफी समझाने के बाद आखिरकार माता-पिता लड़की के अवैध गर्भपात के पांच दिन बाद इस मामले पर पहली सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने पर राजी हो गए. इस शिकायत को आधार बनाते हुए एक पुलिस टीम ने कदम अस्पताल पर छापा मारा.

पीड़िता को धमकाने के मामले में गिरफ्तार

पुलिस ने लड़के के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है. जिन्होंने नाबालिग लड़की को गर्भपता के लिए मजबूर किया था. उन्होंने मामले की जानकारी बाहर लाने पर लड़की को जान से मारने की धमकी दी थी. आरोपियों को दो दिनों के लिए पुलिस ने रिमांड पर लिया और पूछताछ की गई. उन्होंने इस कब्रिस्तान की जानकारी दी. इसके बाद बायोगैस संयंत्र पर रेड की गई.

अभी और लोग इस केस से जुड़ सकते हैं

एपीआई सोनुने के अनुसार, यह मामला काफी गंभीर बताया जा रहा है. उन्होंने संदेह जताया कि इस मामले में अभी कई और तार भी जुड़े हो सकते हैं. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि इस अस्पताल के अन्य केंद्रों पर इस तरह की गतिवधियां हो सकती हैं.

- Advertisement -spot_img
Latest news
- Advertisement -

खबरे जरा हटके

राजनीति

Related news

मनोरंजन

भारत