November 30, 2020

कवरेज इंडिया

खबर पल-पल की

पूर्व ब्लाक प्रमुख सभापति यादव के घर की हुई कुर्की, जेसीबी से दीवार गिराई

1 min read

शिवाकांत पाण्डेय, कवरेज इण्डिया प्रतापगढ़

प्रतापगढ़ – पुलिस पर हमला करने का आरोपित टॉप टेन अपराधी व डेढ़ लाख के इनामी बदमाश सभापति यादव को तलाश रही पुलिस ने शुक्रवार की दोपहर उसके घर की कुर्की की कार्रवाई पूरी की। इस दौरान पुलिस टीम ने जेसीबी द्वारा सभापति यादव के घर के बाहर बाउंड्री वाल के साथ बने गेट को ढहवा दिया। इसके बाद घर के अंदर पहुंची पुलिस टीम ने घर में रखे सामानों को बाहर निकाला और उसकी सूची बनाकर पट्टी कोतवाली में जमा कर दिया|आसपुर देवसरा थाने का टॉप टेन अपराधी सभापति यादव देवसरा ब्लाक प्रमुख माधुरी यादव का पति है।

 

सभापति यादव के ऊपर हत्या, बलवा, जान से मारने की धमकी, अपहरण व फिरौती सहित अन्य धाराओं में पट्टी, आसपुर देवसरा व अन्य थानों में कुल 53 मुकदमे दर्ज हैंछह अगस्त 2020 को पट्टी कोतवाली क्षेत्र के बींद मुजाही गांव निवासी रौनक सिंह के यहां सभापति यादव अपने 20 अन्य साथियों के साथ पहुंचा और रौनक के साथ मारपीट किया। इसकी सूचना रौनक सिंह ने हंड्रेड डायल के साथ कोतवाली पट्टी में दी। इस पर कोतवाल नरेंद्र सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे तो सभापति यादव व उनके भाई सुभाष यादव ने पुलिस पर फायरिग कर दी। पुलिस ने ललकारा तो सभी भाग लिए। इस मामले में पुलिस ने रौनक सिंह की तहरीर पर सभापति यादव व उसके भाई सुभाष यादव के साथ 20 अन्य के खिलाफ पुलिस पार्टी पर हमला के साथ अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू की। सभापति यादव व उसका भाई सुभाष यादव भूमिगत हो गए।


पहले पुलिस द्वारा इन पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया, बाद में दोनों भाई फरार हो गए। पुलिस ने इनाम की राशि बढ़ा दी। अब डेढ़ लाख के इनामी हो चुके सभापति यादव पुलिस के हाथ नहीं लग सके। इनके द्वारा मुकदमे में हाजिर न होने पर 15 अक्टूबर को पट्टी कोतवाली पुलिस ने दोनों भाइयों के खिलाफ 82 की कार्रवाई कर नोटिस इन के घरों पर चस्पा किया। इसी बीच छह नवंबर को स्थानीय न्यायालय ने सभापति यादव ने अग्रिम जमानत के लिए स्थानीय अदालत में याचिका प्रस्तुत की, जिसे न्यायालय द्वारा खारिज कर दिया गया।कोतवाली पुलिस द्वारा दोनों के न्यायालय में हाजिर ना होने के कारण 16 नवंबर को 174 ए न्यायालय की अवमानना की कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज किया गया।

इसी क्रम में शुक्रवार को दोपहर 12 बजे नवागत सीईओ प्रभात कुमार के नेतृत्व में कोतवाल नरेंद्र सिंह थानाध्यक्ष कंधई तुषार दत्त त्यागी, थानाध्यक्ष आसपुर देवसरा सुनील कुमार सिंह दो जेसीबी लेकर विनायका गांव पहुंचे। जेसीबी द्वारा सभापति के घर के बाहर बाउंड्रीवॉल के साथ बने गेट को जेसीबी द्वारा गिरवा दिया गया इसके बाद पुलिस पार्टी अंदर प्रवेश की और कुर्क की कार्रवाई शुरू करते हुए घर में रखे एक-एक सामान को चौकीदारों के सहयोग से बाहर निकलवाया और उसकी सूची बनाई। शाम लगभग चार बजे एसपी पूर्वी सुरेंद्र द्विवेदी व रानीगंज सीओ अतुल अंजान त्रिपाठी भी मौके पर पहुंचे। एएसपी ने सीओ पट्टी प्रभात कुमार से पूरे मामले की जानकारी लेने के साथ ही कुर्क किए गए सामानों की जानकारी ली।

पुलिस द्वारा कुर्क किए गए सामान

पुलिस द्वारा कुर्की की कार्रवाई दोपहर 12 बजे शुरू की गई, जो देर रात तक चलती रही। इस दौरान पुलिस ने घर में रखे एक-एक सामान जिसमें कुर्सी, मेज, रजाई गद्दा, टेलीविजन, चारपाई, चूल्हा, बर्तन, चद्दर, सीमेन्ट की बोरी, पंखा सहित अन्य सामान जब्त किया। शाम चार बजे तक सारा सामना लिखकर निकाला गया। इसके बाद टीम के लोगों द्वारा घर में लगे खिड़की व दरवाजे को उखाडऩे का काम शुरू किया गया जो देर रात तक चलता रहा।

डेढ़ लाख के इनामी बदमाश सभापति यादव व उसके भाई सुभाष यादव के खिलाफ पट्टी कोतवाली में दर्ज मुकदमे को लेकर हाजिर न होने पर न्यायालय के निर्देश पर 83 की कार्रवाई के अंतर्गत इन लोगों की संपत्ति कुर्क की जा रही है – सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी, एएसपी पूर्वी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *