कवरेज इंडिया

खबर पल-पल की

बाजार में भारी गिरावट, निवेशकों के 4.63 लाख करोड़ रुपए स्वाहा

1 min read

कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क

मुंबई। अमेरिका में बॉन्ड यील्ड में तेजी से गुरुवार को वॉल स्ट्रीट में गिरावट आई। इसका असर आज दुनियाभर के शेयर बाजारों पर देखने को मिला। घरेलू बाजार भी इससे अछूते नहीं रहे। सेंसेक्स 1600 अंक की गिरावट के साथ 49500 अंक से नीचे पहुंच गया। एनएसई निफ्टी भी 14650 अंक से नीचे आ गया। इस गिरावट से 3 घंटे से भी कम समय में निवेशकों के 4.63 लाख करोड़ रुपए स्वाहा हो गए।

 

सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयर गिरावट के साथ ट्रेड कर रहे हैं। इसी तरह निफ्टी के 50 में से 44 शेयर गिरावट के साथ ट्रेड कर रहे थे। सेंसेक्स के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट आईसीआईसीआई, इंडसइंड बैंक और एचडीएफसी में देखने को मिली। इनके शेयरों में 4 फीसदी की गिरावट आई।निफ्टी के सभी सेक्टोरल इंडेक्स गिरावट पर हैं। निफ्टी बैंक इंडेक्स में सबसे ज्यादा 2 फीसदी की गिरावट आई। इस गिरावट से आधे घंटे में निवशकों का 1.38 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो गया। इससे पहले पिछले सत्र में सेंसेक्स 257.62 अंक यानी 0.51 प्रतिशत की बढ़त के साथ 51,039.31 अंक पर और निफ्टी 115.35 अंक यानी 0.77 प्रतिशत चढ़कर 15,097.35 अंक पर बंद हुआ था।

 

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार बने हुए हैं। उन्होंने बृहस्पतिवार को 188.08 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कोस्पी और जापान का निक्की दोपहर के कारोबार में ठीक-ठाक गिरावट में था।

 

इस बीच, वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.62 प्रतिशत की गिरावट के साथ 65.70 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर से दिसंबर तिमाही) के जीडीपी के आंकड़े आज घोषित किए जाएंगे। इस कोविड-19 महामारी और उससे जुड़े लॉकडाउन के कारण पहली दो तिमाहियों में जीडीपी में भारी गिरावट आई थी। पहली तिमाही में यह गिरावट 23.9 फीसदी और दूसरी तिमाही में 7.5 फीसदी रही थी। उम्मीद की जा रही है कि तीसरी तिमाही में जीडीपी में बेहतर स्थिति देखने को मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *